नई दिल्ली 14 सितंबर, 2020। कोरोना महामारी के कारण टलता रहा संसद का मानसून सत्र आखिरकार आज से शुरू हो गया। कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार असाधारण इंतजाम किए हैं। सत्र की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मीडिया को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि एक विशिष्ट वातावरण में संसद का सत्र शुरू हो रहा है, पीएम ने इस दौरान सांसदों से चीन सीमा के मुद्दे पर एक स्वर में सैनिकों के साथ खड़े होने की बात कही। राज्यसभा में आज (सोमवार) उपसभापति पद के लिए चुनाव भी है। 

ये रहा आज का सबसे गर्म मुद्दा

प्रश्नकाल के बिना संसद की कार्यवाही चलाने का मुद्दा सोमवार को शुरू हुए मॉनसून सत्र के पहले दिन सबसे ज्यादा गर्म रहा। हंगामा इतना हुआ कि संसदीय मामलों के मंत्री प्रह्लाद जोशी को विपक्ष को समझाने के लिए सामने आना पड़ा। कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने प्रश्नकाल ख़त्म करने पर कहा कि प्रश्नकाल तो स्वर्णकाल होता है लेकिन आप कह रहे हैं कि हालात के कारण इसे नहीं किया जा सकता। आप संसद की कार्यवाही तो चला रहे हैं लेकिन प्रश्नकाल को ख़त्म करके। आप लोकतंत्र का गला घोंटने की कोशिश कर रहे हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी नाराज़ सदस्यों को भरोसा दिलाने की कोशिश करते हुए संकेत दिया कि शून्य काल का इस्तेमाल सरकार से सवाल पूछने के लिए किया जा सकता है।

लोकसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित

संसद के मानसून सत्र के पहले दिन ही भारी हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही मंगलवार 3 बजे तक के लिए स्थगित हो गई है। पहले दिन लोकसभा में दो बिल पास हुए। होम्योपैथी के लिए राष्ट्रीय आयोग 2020 और भारत में चिकित्सा पद्धति के लिए राष्ट्रीय आयोग बनाने के लिए बिल पास हुए। प्रश्न काल पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सांसदों को आश्वस्त किया है। उन्होंने कहा कि सदस्यों की बात को सुना जाएगा। संकट की घड़ी में परिस्थितियों को समझते हुए सदस्य सहयोग करें।

टीएमसी सांसद सौगत राय ने वित्त मंत्री पर की आपत्तिजनक टिप्पणी

टीएमसी सांसद सौगत राय ने वित्त मंत्री सीतारमण पर की आपत्तिजनक टिप्पणी। सदन में खूब हुआ हंगामा। मंत्री के बयान को रिकॉर्ड से हटा दिया गया है। केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि सौगत राय को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए।

हरिवंश के समर्थन में बीजेडी

बीजेडी के प्रसन्ना आचार्य ने कहा कि, हमारी पार्टी राज्यसभा में उपसभापति के एनडीए उम्मीदवार हरिवंश को सपोर्ट करती है।

अर्थव्यवस्था की स्थिति पर हो बहस

लोकसभा में एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने कहा, मुझे लगता है कि देश में अभी सबसे बड़ी चुनौती अर्थव्यवस्था और बेरोजगारी की स्थिति है। मुझे लगता है कि पहले दिन हमें संसद में जो बहस करनी चाहिए वह अर्थव्यवस्था की स्थिति, महामारी और बेरोजगारी की चुनौतियों पर हो।

कोरोना वायरस पर स्वास्थ्य मंत्री का बयान

कोरोना को लेकर स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने संसद को जानकारी दी। लोकसभा में उन्होंने कहा कि अधिकतम मामले और मौतें मुख्य रूप से महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक, यूपी, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, बिहार, तेलंगाना, ओडिशा, असम, केरल और गुजरात में हुई हैं. उन्होंने कहा कि हमारे प्रयासों से देश में कोरोना पर रोकथाम लगी। प्रति 10 लाख भारत में 3,328 केस हैं और 55 मौतें हुई हैं। दुनिया के अन्य देशों की तुलना में भारत में ये कम है।

संसद में रवि किशन ने उठाया ड्रग्स का मुद्दा

संसद में भाजपा सांसद रवि किशन ने ड्रग्स का मुद्दा उठाया. लोकसभा में उन्होंने कहा कि नशीले पदार्थों की तस्करी की समस्या बढ़ रही है। देश के युवाओं को बर्बाद करने के लिए षड्यंत्र रचा जा रहे हैं, हमारे पड़ोसी देश इसमें योगदान दे रहे हैं। पाकिस्तान और चीन से ड्रग्स की तस्करी हर साल की जाती है। उन्होंने कहा कि ड्रग की लत फिल्म इंडस्ट्री में भी है। एनसीबी बहुत अच्छा काम कर रही है। मैं केंद्र सरकार से सख्त कार्रवाई करने, दोषियों को जल्द पकड़ने और उन्हें सजा देने का आग्रह करता हूं।

प्रश्नकाल पर विपक्ष का हंगामा

लोकसभा की कार्यवाही फिर से शुरू हो गई है. लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने कहा कि असाधारण परिस्थितियों में यह सत्र हो रहा है, इसकी वजह से कुछ असुविधा भी हो सकती है. यह सब असुविधा आप लोगों की सुरक्षा के लिए है। कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि प्रश्नकाल संसद प्रणाली में होना बहुत जरूरी है। यह सदन की आत्मा है। अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि प्रश्नकाल को हटाकर लोकतंत्र का गला घोटने की कोशिश की जा रही है। विपक्ष के अन्य सदस्यों ने भी कहा कि प्रश्नकाल और प्राइवेट मेंबर बिजनेस होना जरूरी है। ओवैसी ने कहा कि प्रश्नकाल और प्राइवेट मेंबर बिजनेस होना बहुत जरूरी है। तृणमूल कांग्रेस के सांसद कल्याण बनर्जी ने भी कहा कि प्रश्नकाल संसदीय प्रणाली के मूलभूत ढांचे से जुड़ा है। इसका प्रमुख अंग है।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को संसद में दी गई श्रद्धांजलि

पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के निधन पर लोकसभा में उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। स्पीकर ओम बिड़ला ने उनका जिक्र करते हुए कहा कि वह एक सफल वक्ता और प्रशासक थे। उनका ज्ञान और अनुभव अद्वितीय था। स्वर्गीय शास्त्रीय गायक पंडित जसराज को भी याद किया गया।

जब तक दवाई नहीं, तब तक कोई ढिलाई नहीं

संसद मानसून सत्र शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पत्रकारों को संबोधित किया। उन्होंने सबसे पहले हिंदी दिवस की शुभकामनाएं भी दी। पीएम ने कहा कि हिंदी दिवस पर आप सभी को बहुत-बहुत शुभकामनाएं। इस अवसर पर हिंदी के विकास में योगदान दे रहे सभी भाषाविदों को मेरा हार्दिक अभिनंदन। पीएम मोदी ने कहा कि आज जब हमारी सेना के वीर जवान हिम्मत के साथ, जज्बे के साथ, बुलंद हौसलों के साथ, दुर्गम पहाड़ियों में डटे हुए हैं। कुछ समय के बाद बर्फबारी भी शुरू होगी। उन्होंने कहा कि ऐसे कठिन समय में संसद का सत्र शुरू हो रहा है। एक तरफ कोरोना है और दूसरी तरफ कर्तव्य। सांसदों ने कर्तव्य का पथ चुना है। मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं। इस बार लोकसभा और राज्यसभा अलग-अलग समय पर चलेगी। इस बार शनिवार और रविवार को भी सदन चलेगा। सभी सांसद इस पर सहमत हैं।