नई दिल्ली/रायपुर। 10वीं-12वीं कक्षा की बोर्ड की परीक्षा आने वाली है, ऐसे में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने नोटिस जारी कर स्कूलों को बताया है कि इस साल 1 जनवरी, 2020 की कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में उपस्थित होने वाले छात्रों की उपस्थिति की गणना करें। जिन छात्रों की उपस्थिति 75 प्रतिशत से कम आंकी जाएगी। नियम के अनुसार, परीक्षा में शामिल होने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

15 फरवरी से शुरू होगी बोर्ड परीक्षा
आपको बता दें, सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं 15 फरवरी से शुरू होंगी और एडमिट कार्ड केवल उन छात्रों के लिए जारी किए जाएंगे जिनकी उपस्थिति 75 प्रतिशत या उससे अधिक होगी। कम उपस्थिति वाले उम्मीदवारों की लिस्ट रीजनल ऑफिस तक पहुंच जाएगी और अंतिम निर्णय 7 जनवरी को या उससे पहले लिया जाएगा।

यदि किसी उम्मीदवार के पास उपस्थिति की कमी के पीछे एक वास्तविक कारण है, तो उन्हें 7 जनवरी तक अधिकारियों के साथ जरूरी दस्तावेज जमा करने होंगे। नोटिस के अनुसार, किसी भी मामले को समय सीमा के बाद नहीं माना जाएगा। छात्र कक्षा में उपस्थित क्यों नहीं हो पाया इसका कारण समय सीमा के भीतर दिया जाए।

परीक्षा पास करने के लिए, उम्मीदवारों को थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों परीक्षाओं को अलग-अलग क्लियर करना होगा। सीबीएसई के लिए, उम्मीदवारों को पास होने के लिए 33 प्रतिशत अंक लाने होंगे।

जानें, कब होगी 10वीं-12वीं की परीक्षा

CBSE बोर्ड कक्षा 10वीं के मेन पेपर्स के एग्जाम 26 फरवरी 2020 से शुरू होंगे। ये परीक्षाएं 18 मार्च 2020 तक चलेंगी। 12वीं के मुख्‍य विषयों की परीक्षाएं 22 फरवरी से शुरू होंगी जो 30 मार्च 2020 तक जारी रहेंगी। पिछले साल 10वीं की परीक्षा (Class 10th board exams) 7 मार्च से शुरू हुई थी और 29 मार्च 2019 तक चली थीं। वहीं Class 12th board exams 2 मार्च से 2 अप्रैल 2019 तक चले थे।