22 नवंबर 2019 चेन्नई,। दुनियाभर में हर क्षेत्र में कुछ नया इतिहास लिखने पर मनुष्य को पुरस्कार दिया जाता है। ऐसी ही श्रेणी में एक नया नाम और दर्ज हो गया है। सारा जो की महज 6 साल की हैं, लेकिन अपने तेज दिमाग से उन्होंने नया इतिहास रच दिया है। सारा ने आंखों पर पट्टी बांधने के बाद 2×2 रूबिक (Rubik) की पहेली को सॉल्व किया। गिनिज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने के संदर्भ में इसको उन्होंने अंजाम दिया। इसको सॉल्व करने के साथ-साथ सारा ने सभी को अपनी प्यारी-प्यारी कविताएं सुनाई। उन्होंने महज 2 मिनट 7 सेकंड में यह पहेली सॉल्व की है। तमिलनाडु क्यूब एसोसिएशन ने सारा को दुनिया को सबसे कम उम्र का जीनियस बच्चे का खिताब दिया है। सारा को इसके लिए तमिलनाडु क्यूब की तरफ से सारा को सम्मानित किया गया है।

इससे पहले 20 मई को 2019 को 20 साल के युवक में पानी के भीतर रूबिक क्यूब की गुत्थी सुलझाकर अपना नाम गिनिज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया था। मुंबई के रहने वाले तैराक चिन्मय प्रभु ने 9 खंडो वाली रूबिक की गुत्थी को महज 48 सेकेंड में सॉल्व किया था। बीते वर्ष गिनीज बुक के लिए उनका नाम भेजा गया था। इसके बाद इस साल मार्च में उनका नाम इस रिकॉर्ड में दर्ज हुआ था।

अपने अनुभव सांझा करते हुए युवक ने कहा था कि उन्हें तैराकी का शौक और रूबिक का शौक है। दोनों रूचि को मिलाकर मैंने यह यह इतिहास रचा। साथ ही कहा मेरे लक्ष्य तक पहुंचने के लिए सांस रोकने की उनके अभ्यास उन्हें काफी मदद मिली। गौरतलब है कि देशभर में कम उम्र के बच्चे अलग-अलग क्षेत्रों में मिसाल कायम कर रहे हैं। जो इसका प्रमाण है कि भारत की आनेवाली पीढ़ी का दिमाग तेज गति से भागता है।