Friday, May 29, 2020
Home > News > Crime > अब प्रधानमंत्री के नाम से मोबाइल हैकिंग, साइबर एक्सपर्ट मोनाली गुहा ने जारी किया साइबर हाई अलर्ट…

अब प्रधानमंत्री के नाम से मोबाइल हैकिंग, साइबर एक्सपर्ट मोनाली गुहा ने जारी किया साइबर हाई अलर्ट…

03 जून 2019, भिलाई। नीता अंबानी के नाम से जिओ के फ्री रिचार्ज की फेक न्यूज़ से हैकिंग लिंक भेज कर लोगों को हैक करने के बाद हैकर्स ने अब सीधे भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम से ही फर्जीवाड़ा शुरू कर दिया है। प्रधानमंत्री की लोकप्रियता एवम विश्वसनीयता का नाजायज़ फायदा उठाते हुए अब हैकर्स ने प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना, प्रधानमंत्री साइकल वितरण योजना, प्रधानमंत्री सोलर पैनल योजना जैसे कई हैकिंग लिंक्स बना कर लोगों के बीच वायरल कर दिया है और रोज़ाना हज़ारों व्हाट्सएप्प यूज़र्स इसपर क्लिक करने के बाद हैकिंग का शिकार बन रहे हैं। साइबर एक्सपर्ट मोनाली गुहा ने साइबर सुरक्षा के मद्देनजर पूरे देश मे सुरक्षा हाई अलर्ट जारी किया है ।

साइबर एक्सपर्ट मोनाली गुहा ने जारी किया हाई अलर्ट

साइबर एक्सपर्ट मोनाली गुहा ने बताया कि हैकर्स बड़ी ही आसानी से प्रधानमंत्री योजनाओं का लालच देकर लोगों के बीच हैकिंग लिंक्स वायरल कर रहे हैं जो कि प्राइवेट डोमेन हैकिंग लिंक्स हैं, इस पर क्लिक करने के बाद जीमेल, फेसबुक, वाट्सऐप, एवम बैंक बैलेंस की सुरक्षा पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है। संभव है कि आपके फोन का रिमोट ऐक्सेस किया जा रहा हो।

हैकर्स सुन सकते हैं आपके कॉल रिकॉर्ड, डाऊनलोड कर सकते हैं आपके फ़ोटो वीडियो और कॉन्टैक्ट्स

साइबर एक्सपर्ट मोनाली गुहा ने बताया कि हैकर्स रिमोट एक्सेस ट्रोजन (वायरस) एवम फिशिंग के ज़रिए लाखों यूज़र्स का डेटा लगातार हैक कर रहे हैं, जिनकी वजह से बैंकिंग फ्रॉड में तेज़ी आई है।

साइबर एक्सपर्ट ने बताया हैकिंग से बचने का तरीका

साइबर एक्सपर्ट मोनाली गुहा ने बताया कि किसी भी तरह की सरकारी योजना से जुड़े मेसेज की लिंक पर क्लिक करने के पहले, उसके डोमेन को ज़रूर देखें, यानि कि लिंक के आखिर में .gov.in दिखने पर ही उसे सरकारी वेबसाइट के रूप में पहचाने अथवा उस विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर खबर का सही अपडेट चेक करें। अगर लिंक के आखिर में .com, .in, या ऐसे कोई और एक्सटेंशन दिखें तो कतई क्लिक न करें। समस्या होने की दशा में साइबर एक्सपर्ट्स या नज़दीकी साइबर सेल से संपर्क करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.