रायपुर 10 जुलाई, 2019। द्वारका शारदा पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरुपानन्द सरस्वती ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता विन्देश्वरी बघेल के निधन पर शोक संवेदना प्रकट की है। जगदगुरु शंकराचार्य ने अपने शोक संदेश में कहा है कि देहावसान की सूचना से हार्दिक कष्ट हुआ। भारतीय संस्कृति में माता का जो स्थान है, वह अन्यत्र कहीं भी नहीं है। माता के अभाव की पूर्ति सर्वथा अपूरणीय है। अतः लोक में माता का अभाव महाशोक माना जाता है। शोक, मोह के इन्हीं अवसरों में शोकापनोदन के लिए द्वारिकाधीश श्री कृष्ण की गीता में अमरवाणी का उल्लेख करते हुए है कि ‘जन्में हुए की मृत्यु सुनिश्चित है और मरे हुए का जन्म भी सुनिश्चित है’। अतः इस बिना उपाय वाले विषय में शोक का त्याग करना चाहिए।

जगदगुरु शंकराचार्य ने कहा है कि माता का अभाव सनातन धर्मी परिवार के लिए भी अपूर्णीय क्षति है। उन्होंने शोक के इस अवसर पर भूपेश बघेल और उनके परिवारजनों के धैर्य एवं गतात्मा की सद्गति के लिए द्वारिकाधीश एवं चंद्रमौलीश्वर से प्रार्थना की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here