भिलाई नगर। श्रीराम जन्मोत्सव समिति द्वारा आयोजित मुक्ति पखवाड़ा कार्यक्रम के तहत आज सुपेला क्षेत्र के वार्ड 6 एवं 12 सहित केम्प के वार्ड 23, 24 एवं 25 में यात्रा निकाली गई। जिसमें सभी आमजनों ने इस आयोजन को अपना समर्थन देते हुए समिति के साथ काले गुब्बारे उड़ाकर भ्रष्टाचारी निगम सरकार के कार्यकाल से मुक्ति पर हर्ष जताया। इस दौरान सभी लोगों ने पेयजल की बड़ी समस्या सहित मूलभूत सुविधाओं के अभाव की जानकारी दी। समिति के युवा विंग अध्यक्ष मनीष पाण्डेय ने इस दौरान सभी को बधाई देते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि भिलाई इस भ्रष्टाचारी निगम सरकार से मुक्त हो रही है। अब हम सबकी जिम्मेदारी है कि आगे अच्छे और सच्चे का चुनाव कर भिलाई को सतत विकास के मार्ग पर अग्रसर करना है।

आमसभा के दौरान मनीष पाण्डेय ने कहा कि महापौर जी ने आज तक लोगों की सुविधाओं को प्राथमिकता नहीं दी जिसके चलते आज भी भिलाई शहर के घनी आबादी के क्षेत्रों में लोगों को पेयजल नहीं उपलब्ध हो पा रहा है। लोगों को इतनी परेशानी हो रही है इसके बावजूद महापौर खुलेआम झूठ कहकर अपनी पीठ थपथपा रहे हैं। आज भी अण्डरब्रिज में पानी भर रहा है लेकिन महापौर जी का ध्यान इस ओर बिल्कुल नहीं है। इन्होंने पूर्व में 30 लाख रूपए खर्च कर इस समस्या को दूर करने का दावा किया और फिर फेसबुक लाइव में भी जमकर वाहवाही लूटी लेकिन आज भी भिलाईवासियों को भरे हुए अण्डरब्रिज के बीच आवागमन करना पड़ रहा है। इसके अतिरिक्त केम्प क्षेत्र के गलियों का हाल इतना बदहाल है कि यहां लोग बहुत ही दयनीय स्थिति में गुजर बसर कर रहे हैं लेकिन महापौर के कान में जूं भी नहीं रेंग रही। पार्षद भोजराज सिन्हा ने भी निगम सरकार की लचर कार्यशैली पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि जनता ने इन्हें पूरे शहर के विकास की जिम्मेदारी दी थी लेकिन इन्होंने सिर्फ दो वार्डों को प्राथमिकता दी और आज पूरे शहर को बदहाल बना दिया। पार्षद जयप्रकाश यादव ने भी निगम सरकार के झूठे वादों की पोल खोलते हुए कहा कि इस सरकार ने सिर्फ जनता को ठगा है। संपत्तिकर जैसा बड़ा मुद्दा हो या फिर विकास कार्यों की बात हो, लोगों को अमूल्य वोट के बदले केवल झूठ ही मिला है।

केम्प क्षेत्र विकास से अछूता
प्रदीप गुप्ता ने कहा कि केम्प क्षेत्र में आज विकास कार्यों की स्थिति दयनीय है। पूर्व की सरकार ने यहां क्षेत्र के विकास के लिए हमेशा स्थानीय मांगों को प्रथामिकता थी लेकिन वर्तमान में दो वर्षों से निगम द्वारा किसी भी कार्य के लिए गंभीरता से नहीं दिखाई गई। आज आलम यह है कि क्षेत्र में मूलभूत सुविधाओं के लिए लोग जूझ रहे हैं यही नहीं सफाई व्यवस्था के नाम पर हर घर के सामने सिर्फ कचरे का ढेर और बजबजाती नालियां ही दिखाई पड़ती है। कार्यक्रम को छोटेलाल चौधरी, मोहन तिवारी ने भी संबोधित किया। इस दौरान सेवकराम साहू, अरविंद वर्मा, सुमनशील, सुमित्रा मांझी, गणेश साहू, खिलेश तिवारी आदि मौजूद थे।