Sunday, May 31, 2020
Home > News > Chhattisgarh > संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मियों ने विधायक रेखचंद जैन से की मुलाकात.. रखी ये मांग..

संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मियों ने विधायक रेखचंद जैन से की मुलाकात.. रखी ये मांग..

7 नवंबर 2019 जगदलपुर। प्रदेश में संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मियों ने सोशल मीडिया को हथियार बनाने के साथ-साथ प्रदेश के विधायकों, मंत्रियों और मुख्यमंत्री से मुलाकात कर अपने संविलियन के लिए निवेदन करने की रणनीति बनाई है। जिसके बाद अलग-अलग जिले में प्रतिनिधिमंडल ने विधायकों को ज्ञापन सौंपने का सिलसिला शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में बस्तर जिले के जगदलपुर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत संविलियन अधिकार मंच के जिला संयोजक प्रकाश महापात्र के नेतृत्व में संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मियों ने जगदलपुर विधानसभा के विधायक रेखचंद जैन से मुलाकात की और उन्हें अपनी परेशानियों से अवगत कराया ।

चर्चा में शिक्षाकर्मियों ने विधायक को बताया कि उन्हें पंचायत विभाग में रहने के कारण समय पर वेतन तक नहीं मिलता है यहां तक कि प्रदर्शन करने के बाद दीपावली पूर्व शिक्षाकर्मियों को ले देकर वेतन मिला है वरना दो-दो, तीन-तीन महीने उन्हें वेतन के लिए ही इंतजार करना पड़ता है इसके अतिरिक्त विगत 3 सालों से शिक्षाकर्मियों को महंगाई भत्ता दिया ही नहीं गया है जिसके चलते उन्हें जबर्दस्त आर्थिक नुकसान सहना पड़ रहा है। स्थानांतरण नीति भी प्रदेश में शिक्षाकर्मियों के लिए जारी ही नहीं की गई ऐसे में इन समस्त परेशानियों का हल संविलियन ही है। शिक्षाकर्मियों ने विधायक महोदय से निवेदन किया कि अब प्रदेश में मात्र 25000 शिक्षाकर्मी संविलियन से वंचित है ऐसे में सरकार अपने जनघोषणा पत्र के वादे के मुताबिक उनका संविलियन कर देती है और उसके बाद नई भर्ती करती है तो शिक्षाकर्मियों को भी न्याय मिल जाएगा और बेरोजगार भाई बहनों को नौकरी भी और न्यायालयीन प्रक्रिया भी समाप्त हो जाएगी जो उन्हें मजबूरी में दायर करना पड़ा है ।

शिक्षाकर्मियों की बात सुनने के बाद विधायक रेखचंद जैन ने उन्हें विश्वास दिलाया कि वह सरकार के मुखिया तक इस बात को पहुंचाएंगे और जन घोषणा पत्र के क्रियान्वयन के लिए अपनी तरफ से प्रयास करेंगे। विधायक रेखचंद जैन से मुलाकात करने वाले प्रतिनिधिमंडल में जिला संयोजक प्रकाश महापात्र के साथ साथ प्रकाश महापात्र, देवेंद्र सोनी, जीवेद्र कुमार मगर,
मुरलीधर पटेल,देवली बघेल,
कामना तिवारी,कांता स्वर्णकार,
निवेदिता लाल, श्वेता सिंह,
वर्षा रानी टंडन, नूतन विश्वकर्मा,
सरस्वती बघेल, लोकनाथ यादव,
सुकमा नाग, त्रिलोचन सिंह ध्रुव,
भास्कर जयसवाल, फूल धर सोरी, संपत बघेल, फगलु राम नाग, प्रदीप टेंबुलकर, बुद्धेश्वर नेताम, बलराम कश्यप, चंद्रशेखर साह, वेणु धर कश्यप,गुलशन बघेल, सुखचंद बघेल, सनत पटेल,
जगेश्वर राम यादव, शत्रुघ्न के राम,
राजेंद्र प्रसाद रावटी, मोहन बघेल,
दशरथ कश्यप, हरिराम बघेल,
मेघनाथ ध्रुव, हलधर विषई,
पुरुषोत्तम पांडे, नरेश कुमार राय शामिल थे ।

इस मुद्दे पर चर्चा करते हुए संविलियन अधिकार मंच के प्रदेश संयोजक विवेक दुबे और जिला संयोजक प्रकाश महापात्र ने बताया कि संविलियन की मांग को लेकर पूरे प्रदेश के साथी एकजुट हो चुके हैं और लगातार सोशल मीडिया के जरिए अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं इसके साथ ही साथ हमने प्रदेश के जनप्रतिनिधियों को भी ज्ञापन सौंपने की रणनीति तैयार की है इसी क्रम में जगदलपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक रेखचंद जैन जी से मुलाकात करके जिला संयोजक प्रकाश महापात्र के नेतृत्व में संविलियन से वंचित शिक्षा कर्मियों की टीम ने संविलियन की मांग रखी जिस पर उनके द्वारा प्रदेश के मुखिया तक हमारे बात को पहुंचाने का आश्वासन दिया गया है साथ ही उन्होंने भरोसा दिलाया है कि सरकार आपकी आवाज जरूर सुनेगी, आप सरकार पर भरोसा बनाए रखें।