रायपुर 12 जनवरी, 2020। राजधानी के साइंस कॉलेज मैदान में 12 से 14 जनवरी तक राज्य स्तरीय युवा महोत्सव का आयोजन किया गया है। इस महोत्सव में अलग अलग वर्गो में प्रदेशभर के 7 हजार प्रतिभागी हिस्सा लेने पहुंचे हैं। अपने कार्यक्रम की प्रस्तुति देता एक दल।

छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुईया उइके और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दीप प्रज्जवलित कर युवा महोत्सव का शुभारंभ किया। इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत, कषि मंत्री रविन्द्र चौबे, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल व अन्य उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि आज विशेष दिन है, विवेकानंद जयंती को युवा दिवस के रूप में पूरा देश मना रहा है। यह दिन छत्तीसगढ़ के लिए ऐतिहासिक है। स्वामीजी ने छत्तीसगढ़ में अपना दो साल का बाल्यकाल गुजारा था। छत्तीसगढ़ से स्वामी विवेकानंद जी का गहरा नाता रहा है।

छत्तीसगढ़ के लिए युवा उत्सव इसलिए भी विशेष मायने रखता है, क्योंकि बीते तीन महीने से ग्रामीण स्तर, ब्लाक और जिला स्तर पर विविध कार्यक्रमों के माध्यम से इसकी तैयारी की जा रही थी। युवा महोत्सव में प्रदेश के सभी 27 जिलों से सात हजार से अधिक प्रतिभागी भाग ले रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वामी विवेकानन्द ने 39 साल के जीवनकाल में देश और दुनिया को जो सीख दी है, वह आज भी विश्व पटल पर युवाओं के लिए प्रेरक है। महज 12 साल की उम्र में स्वामी विवेकानंदजी अपने पिता के साथ रायपुर आए थे और यहां उनका दो साल का बाल्यकाल बीता है। जहां स्वामीजी ठहरे थे,उस देव भवन को विवेकानंद स्मारक के रूप में विकसित किया जा रहा है। उन्होंने उपस्थितजनों से नारा भी लगावाया- खेलबो,जीतबो, गढ़बो नवा छत्तीसगढ़

इसके पूर्व खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल ने स्वागत भाषण में कहा कि 12 से 14 जनवरी तक आयोजित युवा महोत्सव में शामिल होने प्रदेशभर से युवा आए हैं। यहां युवाओं का जोश और हुनर अलग-अलग मंचों पर तीन दिन तक दिखेगा। विशिष्ट अतिथि मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने भी संबोधित किया।

विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत सहित मंत्रीमंडल के अनेक मंत्री इस अवसर पर मंचस्थ थे। आकर्षक मार्चपास्ट और राजगीत अरपा-पैरी के धार की धुन के साथ महोत्सव का रंगारंग आगाज हुआ।