मध्यप्रदेश : इस आधुनिक एवं वैज्ञानिक युग में जहां लोग नयी सोच और टेक्नोलॉजी को बढ़ावा दे रहे है. वही आज भी कुछ ऐसे लोग है जो अंधविश्वास और जादू टोना में विश्वास रखते है.

नया मामला मध्य प्रदेश सिंगरौली के बसौड़ा गांव का है. जहा एक पति बृजेश केवट ने अंधविश्वास के चलते अपनी ही पत्नी बिट्टी देवी की हत्या कर के गर्दन काटकर अपने कुलदेवता को बलि चढ़ा दिया. लेकिन सबसे बड़ी हैरानी की बात यह है की इस पूरी वारदात का चश्मदीद गवाह और कोई नहीं बल्कि उसका खुद का बेटा है जिसने इस खतरनाक मंजर को अपनी आँखों से देखा जिसके बाद पिता ने उसे भी जान से मारने की धमकी दी और वंहा से भगा दिया .

बेटे ने बताया की माता-पिता कुलदेवता की पूजा कर रहे थे और उसके बाद वो सो गया जब आधे रात को उसकी नींद खुली तो उसने माता पिता को झगड़ते देखा. जब वो बिच बचाओ करने गया तो पिता ने कहा तू हट जा नहीं तो तुम्हे भी मार दूंगा और जब वो घर से बहार निकला तो उसके पिता ने अन्दर से दरवाजा बंद कर दिया. पिता ने हत्या करने के बाद मां का शव और उसकी गर्दन को मिट्टी के नीचे दबा भी दिया था. जब बेटा रोने लगा और चिल्लाया तो पड़ोसी आ गए. सब लोग बाहर आए तो पुलिस वालों को फोन किया. तो पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए.पुलिस मान रही है कि यह पूरा हत्याकांड अंधविश्वास के चलते हुआ है.