11 जून 2019, नई दिल्ली। बीजेपी सांसद डॉ वीरेंद्र कुमार 17 वीं लोकसभा के प्रोटेम स्पीकर होंगे, वे नवनिर्वाचित सांसदों को शपथ दिलाएंगे। इसके पहले, प्रोटेम स्पीकर के लिए संतोष गंगवार और मेनका गांधी का नाम सामने आया था, हालांकि गंगवार ने इसकी संभावना से इनकार कर दिया था। 17वीं लोकसभा में संसद का सत्र 17 जून से शुरू होगा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली नई सरकार अपना पहला बजट 5 जुलाई को संसद में पेश करेगी। इस दौरान संसद का सत्र 40 दिनों तक चलेगा और और इसमें 30 बैठकें होंगी।

  • प्रोटेम स्पीकर, चुनाव के बाद पहले सत्र में स्थायी अध्यक्ष या उपाध्यक्ष के चुने जाने तक संसद का कामगाज चलाने के लिए चुना जाता है।
  • इस पद के लिए सांसद का चुनाव बेहद कम वक्त के लिए किया जाता है।
  • प्रोटेम स्पीकर तभी तक अपने पद पर बने रहते हैं जब तक स्थाई अध्यक्ष का चुनाव ना हो जाए।
  • संसद का ये पहला सत्र 17 जून से 26 जुलाई तक चलेगा।
  • हालांकि, लोकसभा या विधानसभा में प्रोटेम स्पीकर की जरूरत उस वक्त भी पड़ती है, जब सदन में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष, दोनों का पद खाली हो जाता है।
  • मिली जानकारी के मुताबिक, सत्र के पहले दो दिनों में नवनिर्वाचित सांसदों को शपथ दिलायी जायेगी।
  • राष्ट्रपति लोकसभा और राज्यसभा दोनों की संयुक्त बैठक को 20 जून को संबोधित करेंगे।
  • इसके बाद आर्थिक सर्वेक्षण चार जुलाई को पेश किया जाएगा, जिसके अगले दिन यानी 5 जुलाई को बजट पेश किया जाएगा।

कौन हैं विरेंद्र कुमार

  • 63 साल के विरेंद्र कुमार सात बार के लोकसभा सांसद हैं और वे मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ बुलंदेखंड इलाके का प्रतिनिधित्व करते हैं।
  • 1977-79 तक सागर जिले के एबीवीपी संयोजक रहे विरेंद्र कुमार बाल विकास और महिला कल्याण मंत्री बनाए गए थे।
  • 1975 के जेपी आंदोलन में वे भी शामिल रहे और आपातकाल के दौरान 16 महीनों तक जेल में रहे।
  • अर्थशास्त्र में मास्टर डिग्री के साथ ही उन्होंने चाइल्ड लेबर में पीएचडी भी किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here