दुर्ग 03 फरवरी, 2020। कहीं पर लोग चेस खेल रहे हैं। कहीं वालीबाल की शानदार सर्विस पर शाबासी दी जा रही है। कहीं क्विज के उत्तर सेकेंड में दिए जा रहे हैं। यह वाकया किसी ग्राउंड का नहीं, सेंट्रल जेल का है जहां बंदियों के लिए वार्षिक खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन हो रहा है।

सेन्ट्रल जेल परिसर में उत्साह का वातावरण है। हर बार की तरह इस बार भी उमंग 2020 खेल स्पर्धा का आयोजन हो रहा है। इसके अंतर्गत आयोजित इंडोर और आउटडोर खेलों में बंदी रुचि से हिस्सा ले रहे हैं।

इस बार उमंग 2020 में खेल स्पर्धाओं में 421 पुरुष बंदी और 63 महिला बंदी हिस्सा ले रहे हैं। आउटडोर खेलों में 100 मीटर दौड़ का आयोजन किया गया है। इसमें काफी संख्या में बंदियों ने हिस्सा लिया है। इसके अलावा वालीबाल के खेल में भी बंदी काफी रुचि से हिस्सा ले रहे हैं। कुर्सी दौड़ और कैरम जैसी प्रतियोगिताओं का आयोजन भी किया गया है। इसके साथ ही चेस जैसे बौद्धिक खेलों का आयोजन भी किया गया है। क्विज प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया है।

जेल अधीक्षक योगेश क्षत्री ने बताया कि उमंग प्रतियोगिता के माध्यम से अपनी अभिरुचि के मुताबिक प्रतियोगिता में भाग लेने का अवसर बंदियों को दिया जाता है। जिसकी अभिरुचि जिस खेल में होती है वे उसमें हिस्सा लेते हैं। जो भागदौड़ वाले खेलों में हिस्सा नहीं लेना चाहते, वे चेस और कैरम जैसे खेलों में भाग लेना पसंद करते हैं। क्विज जैसी प्रतियोगिताओं का आयोजन भी उमंग के अंतर्गत किया जा रहा है और बंदी इसमें भी उत्साह से हिस्सा ले रहे हैं। प्रतियोगिता का आयोजन दोपहर 11 बजे से 2 बजे तक किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि सेंट्रल जेल परिसर में हर साल उमंग प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है जिसमें विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं में बंदी उत्साह से हिस्सा लेते हैं।