रायपुर 15/अक्टूबर 2020। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव एवं प्रवक्ता विकास तिवारी ने दुर्ग से भाजपा सांसद विजय बघेल के द्वारा सरकारी शराब दुकान में लूटपाट करने वालों के समर्थन में दिये जा रहे हैं अनशन को राजनीतिक ड्रामा करार दिया है और कहां है कि मोदी सरकार के किसान विरोधी बिल के गांव-गांव में हो विरोध के कारण भाजपा सांसद अपने क्षेत्र में किसानों को मुंह नहीं दिखा पा रहे हैं और इन सभी बातों से ध्यान भटकाने के लिये वह सरकारी शराब दुकान में लूटपाट करने वाले अपराधियों के लिए अनशन का राजनीतिक नाटक कर रहे हैं जबकि शराब दुकान के लूटपाट में कुल 11 आरोपियों को नामजद आरोपी बनाया गया था जिनके ऊपर धारा 147, 149, 186, 186, 392 एवं लोक संपत्ति क्षति की धारा 3 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया गया था। जिनमें से सात आरोपियों ने माननीय हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत ले ली थी और शेष 4 आरोपियों ने अग्रिम जमानत हेतु आवेदन नहीं दिया था। उनकी गिरफ्तारी कानून के अनुरूप हुई और उन्हें जेल भेज दिया गया। भाजपा सांसद विजय बघेल अपने आप को भारत के संविधान और कानून व्यवस्थाओं से ऊपर समझने लगे हैं और न्यायालयीन प्रणाली का भी वह अपमान कर रहे हैं जबकि उन्हें मालूम है कि शेष चार आरोपियों को भी नियमानुसार माननीय न्यायालय से जमानत मिलने के पश्चात ही जेल से रिहा किया जायेगा।

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि भाजपा सांसद विजय बघेल यह भूल गए हैं कि भारतीय न्याय प्रणाली के ऊपर राजनीतिक दल नहीं होता और उन्हें ज्ञात भी होगा कि वर्ष 2014 में तत्कालीन कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष एवं पाटन विधायक पाटन ब्लॉक अध्यक्ष एवं अन्य पर अपने सरकार के द्वारा दबाव पूर्वक एसडीएम स्तर के अधिकारियों से कहकर 15 सितंबर 2014 को जुर्म दर्ज करवाया था जिनमें धारा 147,148,149,186,353 और 427 लगाई गई थी जिसमें की नियमानुसार जमानत लिया गया था सरकारी अधिकारियों को प्रमोशन का लालच देकर झूठा प्रकरण दर्ज करने का कृत्य पूर्ववर्ती रमन सरकार के समय बहुतायत होता था। भाजपा सांसद विजय बघेल ने पाटन विधायक और पूर्व राजस्व मंत्री रहते भूपेश बघेल पर जमीन कब्जा करने का फर्जी प्रकरण भी दर्ज कराया गया था जिसे माननीय न्यायालय ने खारिज कर दिया और विजय बघेल के द्वारा लगातार पाटन के विधायक भूपेश बघेल एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर झूठे प्रकरण दर्ज करने के लिये एक अभियान चलाया जा रहा था जिसमें उनकी मदद तत्कालीन रमन सरकार के मुखिया,पूर्व सुपर सीएम और तत्कालीन पाटन विधानसभा के अधिकारीगण देते थे लेकिन पाटन विधायक रहते भूपेश बघेल द्वारा कभी भी कानून व्यवस्था से ऊपर उठकर नाटकीय अंदाज में धरना प्रदर्शन और अनशन नहीं किया गया उनके ऊपर भाजपा सरकार और उनके स्थानीय अधिकारियों द्वारा लगातार दबाव पूर्वक झूठे प्रकरण दर्ज किए जाते थे और वह उनका डटकर मुकाबला करते थे लेकिन वर्तमान में दुर्ग से भाजपा सांसद विजय बघेल किसानों का साथ छोड़ सरकारी शराब दुकान के लुटेरों का साथ देने में लगे हुए हैं उन्हें संरक्षण दे रहे हैं और अनशन की राजनीतिक नौटंकी करके मोदी सरकार द्वारा किसानों के लिए बनाये गये काले कानून से ध्यान भटकाने का प्रयास कर रहे हैं। पुलिस प्रशासन द्वारा उन्हें स्थाई जेल बनाकर गिरफ्तारी देने हेतु कहा गया और नियमानुसार कार्रवाई की बात की तो भाजपा के कार्यकर्ता भाग खड़े हुए और गिरफ्तारी के डर से भाजपा के कार्यकर्ता अपने सांसद से दूरी बनाये हुये हैं और सांसद विजय बघेल जो कि मोदी सरकार के अहंकार में अपने आप को न्यायपालिका कानून और संविधान से ऊपर समझ रहे हैं और अनशन का ड्रामा करने का प्रयास कर रहे हैं इसे जनता भली-भांति समझ रही है।

 कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि भाजपा सांसद विजय बघेल को अगर अनशन करना है तो पाटन के किसान और पूरे प्रदेश के किसानों के हित के लिये अनशन करें और मोदी सरकार के काले कानून का विरोध कर वह किसानों का साथ दें सरकारी शराब दुकान लूटने वालों के लिये अनशन के राजनीतिक ड्रामे को जनता भली-भांति समझ रही है और सांसद विजय बघेल को यह तो ज्ञात है कि अपराधियों को जेल से माननीय न्यायालय जमानत देकर रिहा है,राजनीतिक अनशन के ड्रामा, नौटंकी से सरकारी शराब दुकान में लूटपाट करने वाले अपराधी जेल से नहीं रिहा हैं।