VIDEO: सीएम अशोक गहलोत का कांग्रेस के बागी विधायकों को संदेश.. आलाकमान ने माफ किया तो मैं गले लगा लूंगा…

जयपुर। राजस्थान में मची राजनीतिक खींचतान के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बयान से बड़ा संकेत मिल रहा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कांग्रेस के बागी विधायकों पर नरम पड़ते दिखाई दे रहे हैं। गहलोत ने अपने एक ताजा बयान में बागियों को गले लगाने की बात की है।


अशोक गहलोत ने कहा है कि जो लोग राजस्थान में सरकार गिराने की साजिश में लगे हैं, अगर वो हाईकमान के पास जा कर माफी मांगते हैं और उन्हें माफ कर दिया जाता है तो मैं सभी को गले लगा लूंगा।


उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस पार्टी ने मुझे बहुत कुछ दिया है। मैं तीन बार मुख्यमंत्री रहा और प्रदेश अध्यक्ष पद पर रहा। मैं पार्टी में रहते हुए जो भी कर रहा हूं जनता की सेवा और पार्टी के लिए ही कर रहा हूं, मेरा इसमें मेरा अपना कुछ भी नहीं है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी को लोगों ने मौका दिया, उन्होंने थालियां बजवाई, मोमबतियां जलवाई लोगों ने किया, जो अच्छी बात है लेकिन अब पीएम को राजस्थान का ये तमाशा बंद कराना चाहिए, यहां विधायकों को खरीदने की रेट बढ़ रही है, आखिर क्या तमाशा है?


सीएम गहलोत ने आगे कहा कि जो कुछ भी अभी किया जा रहा है वो करना अच्छा नहीं लगता लेकिन ये सब लोकतंत्र को बचाने के लिए करना पड़ रहा है। बीजेपी चुनी हुई सरकार को लगातार गिराने की कोशिश में लगी है।


गहलोत ने कहा कि अमित शाह हर समय सरकार गिराने के बारे में सोचते रहते हैं। वो फ्रंटफुट पर हैं और वही हमेशा यही सोचते रहते हैं कि कैसे मैं सरकार को गिरा दूं। अगर चुकी हुई सरकार भी गिरने लगी तो लोकतंत्र कहां रहा? हम लोकतंत्र को बचाने का अभियान चला रहे हैं।


मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि बीजेपी चुनी हुई सरकारों को गिराने के खेल में लगी है और लोकतंत्र को बचाने के लिए हमें यह सब करना पड़ रहा है। यह सब करते हुए हमें अच्छा नहीं लगता। वहीँ, उन्होंने पीएम मोदी से कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए बात करने की बात कही। उन्होंने इस बारे में एक ट्विट भी किया था।


इससे पहले अशोल गहलोत विधायकों को जैसलमेर शिफ्ट कर चुके हैं। जहां उनके दो विधायकों की तबियत खराब हो गई। अब एक महीना होने को है और राजस्थान में सियासी खेल उलझ रहा है, ऐसे में कांग्रेस के पास आगे को लेकर क्या योजनाएं हैं ये कौन बताएगा!