नई दिल्ली। उत्तरांखड के केदारनाथ में आज सुबह चिनूक हेलीकॉप्टर उतरा और यहां पड़े एमआई विमान के मलबे को लेकर दिल्ली के लिए रवाना हो गया। दरअसल भारतीय वायुसेना का एमआई-17 2018 में यहां दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। केदारनाथ मंदिर के पास उतरते हुए एमआई-17ने आग पकड़ ली थी। दो साल से विमान का मलबा यहीं पड़ा हुआ था। शनिवार को चिनूक हेलीकॉप्टर केदारनाथ के क्रैश हुए एमआई 17 के मलबे को लेने के लिए पहुंचा। जिसके बाद मजबूत जंजीरों से ये मलबा उठाया गया।

केदारनाथ धाम में एयरफोर्स के चिनूक हेलीकॉप्टर की लैडिंग के लिए जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण लोनिवि (डीडीएमए) ने चिनूक की लैडिंग के लिए हेलीपैड का विस्तार किया है। बड़ी मशीनों को उतारने के लिए 50-30 मीटर का कच्चा पैच तैयार किया गया है। भारतीय सेना के चिनूक हेलीकॉप्टर से केदारनाथ पुनर्निर्माण के लिए भारी मशीनों भी धाम में पहुंचाया जाना है। केदारनाथ धाम में शेष कार्यो के लिए बड़ी मशीनों का उतारा जाना है इसके लिए चिनूक हेलीकॉप्टर की मदद ली जाएगी। इसके लिए केदारनाथ में जिस हेलीपैड पर सामान्य तौर पर हेलीकॉप्टर लैंड करते हैं वहां से जीएमवीएन के सभी स्टैक्चर हटा दिए गए हैं।