दुर्ग 10 जनवरी, 2020। निजी स्कूलों और कोचिंग सेंटरों की मनमानी फीस पर रोक लगाने की मांग को आज भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए। सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता कलेक्टोरेट में प्रदर्शन करने पहुंचे। जहां भाजयुमो कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच जमकर तीखी बहस हुई। एक वक्ता ऐसी भी आ गया था युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं को अंदर जाने से रोका गया तो युवा मोर्चा नेता शुभम सिंह उग्र होने लगे थे। तब पुलिस कर्मियों से उनकी बहस भी हुई। फिर खुद CSP ने मोर्चा संभाला और मामले को शांत कराया।

भाजयुमो नेता शुभम सिंह के नेतृत्व में सैकड़ो कार्यकर्ताओ ने कलेक्टोरेट में जोरदार प्रदर्शन किया। युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने बररिकड़े तोड़ कर अंदर जाने की बहुत कोशिश की। जिसके बाद पुलिस और कार्यकर्ताओं में काफी तीखी बहस हुई ।

इन 5 मांगों को लेकर था प्रदर्शन

  • आपसे निवेदन है कि निजी स्कूलों की मनमानी फीस पर रोक लगाने के लिए नियामक आयोग का गठन जल्द से जल्द हो।
  • अगर नियामक आयोग का गठन इस सत्र में भी नही हो पाता तो इस सत्र में जिले के सारे स्कूलों की फीस 5℅ कम करवाये।
  • 2012 से 2014 के बीच दुर्ग जिले के 600 शिक्षकों का CPS के नाम पर कटने वाला कुल 80 लाख रुपये ,जो अब तक उनको नही मिला उसकी जांच जानकारी देवे।
  • जिले के कोचिंग सेंट्रो द्वारा मनमानी तरीके से लाखो रूपय अभिभावकों से वसूले जा रहे है , हम मांग करते है कि कोचिंग सेंटर के नियंत्रण के लिए 1 टीम का गठन हो जो इनकी फीस तय करे ।
  • निजी स्कूलों के द्वारा 1 ही छात्र से हर साल लेने वाले एडमिशन फीस पर रोक लगाए ।

इस प्रदर्शन में मुख्य रूप से सत्यम यादव, बुजी राव, अनिल वर्मा, अरविंद, रोहित यादव, शिवम सिंह, प्रकाश मिश्रा, अभिषेक भगत, अंकित सिंह, हिमांशु सिंह, निरंजय दुबे, अभिषेक शर्मा, शिवम राय, सूर्या तिवारी, मोहित गहलोत, आनंद सिंह, संतोष ठाकुर, अभय यादव एवम सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे।