Tuesday, June 2, 2020
Home > News > Chhattisgarh > रात 12 के बाद घूमने का शौक है तो हो जाइए सावधान.. घूमते पाए गए तो थाने में गुजरेगी पूरी रात..

रात 12 के बाद घूमने का शौक है तो हो जाइए सावधान.. घूमते पाए गए तो थाने में गुजरेगी पूरी रात..

दुर्ग। चोरों और लुटेरों ने जनवरी से नवंबर तक 11 महीने में 746 चोरियां, 355 नकाबजनी और लूट की 45 वारदातों के बाद आरोपियों ने पुलिस के नाक में दम कर रखा है। इससे जिले में पुलिसिंग पर लोगों का भरोसा उठने लगा है। 1146 वारदातों के बाद और अपनी किरकिरी होती देख अब जिला पुलिस अपराध पर नियंत्रण करने नई-नई रणनीति बना रही है। इसके तहत रात 12 बजे के बाद शहर में घूमते पाए जाने पर पुलिस सख्ती से पूछताछ करेगी। जरा सी 20 संदिग्ध लगा तो पूरी रात थाने में बैठाकर रखेगी।

शहर में चोरी लूट जैसी घटनाएं और बढ़ रही है इससे जिला पुलिस की फजीहत हो रही है। जिसको देखते हुए एसपी अजय यादव ने सभी अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने रात में घूमने वालों पर कड़ी निगरानी रखने को कहा गया।

एएसपी रोहित कुमार झा ने बताया कि पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई है अब रात में पुलिस की मौजूदगी दिखाई देगी। सभी थाना प्रभारियों से कहा गया कि रात 12 बजे पेट्रोलिंग टीम को रवाना करने के बाद ही थाना छोड़ेंगे।

पेट्रोलिंग पॉइंट पर तैनात रहेंगे हवलदार

एसएसपी अजय यादव ने पेट्रोलिंग में कई बदलाव किए हैं। अब पेट्रोलिंग पॉइंट पर भी हवलदारओं की ड्यूटी लगेगी। इसके अलावा थानों में एसआई और एएसआई अधिकारियों की संख्या बढ़ाई जा रही है। रात की पेट्रोलिंग में अब एक अधिकारी को ड्यूटी करने के निर्देश दिए हैं।

मुसाफिर चेकिंग शुरू

पुलिस ने बढ़ते अपराधों को देखते हुए अब मुसाफिरों और फेरी वालों की भी जांच शुरू कर दी है। रेलवे स्टेशन बस स्टैंड लॉज होटल और भीख मांगने वालों की चेकिंग की जाएगी। स्टेशन के आसपास और मैदानों तंबू तानकर रखने वालों को पुलिस पूछताछ कर रही है। इसकी पूरी जानकारी भी पुलिस इकट्ठा कर रही है।

परेशानी से बचना है तो रहे सावधान

यदि किसी कारणवश देर रात कहीं जाना आना जरूरी है।तो आपके पास जरूरी आईडी और गाड़ी के कागजात रखे हो सके। हो सके तो पुलिस को खुद आगे बढ़कर जानकारी दें अन्यथा पकड़े जाने पर आपका समय जाया होगा।

एसएसपी अजय यादव बोले- अकारणश घूमने वालों पर रहेगी नजर

रात के वक्त कारण घूमने वालों पर नजर रखी जा रही है डायल 112 के जवानों के अलावा पेट्रोलिंग को भी कहा गया है कि कोई भी संदिग्ध नजर आता है तो उससे पूछताछ करे। उसे उठाकर थाने ले जाए संदिग्ध नहीं है तो उसे छोड़ दिया जाए। पेट्रोलिंग में बदलाव किया गया है।