Friday, May 29, 2020
Home > Entertainment > अक्षय कुमार ने अपनी अगली फ़िल्म पृथ्वीराज की शूटिंग प्रारंभ किया, साथ नजर आई संयोगिता मानुषी छिल्लर…

अक्षय कुमार ने अपनी अगली फ़िल्म पृथ्वीराज की शूटिंग प्रारंभ किया, साथ नजर आई संयोगिता मानुषी छिल्लर…

15 नवंबर 2019 नई दिल्ली। अक्षय कुमार ने अपनी अगली फ़िल्म पृथ्वीराज की शूटिंग शुरू कर दी है। फ़िल्म के मुहूर्त के दौरान पूरे विधि-विधान से यज्ञ-हवन और मंत्रोच्चार किया गया। इस दौरान फ़िल्म की लीडिंग लेडी मानुषी छिल्लर, निर्देशक डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी और निर्माता रानी मुखर्जी मौजूद रहीं।

अक्षय ने पूजा का वीडियो ट्विटर पर शेयर करके इसकी जानकारी फैंस को दी। उन्होंने बताया कि फ़िल्म अगले साल दिवाली पर रिलीज़ होगी। अक्षय ने अपने शुभचिंतकों और चाहनेवालों की दुआएं मांगी हैं। फ़िल्म का निर्माण यशराज फ़िल्म्स कर रहे हैं।

अक्षय पहली बार एक लोकप्रिय ऐतिहासिक किरदार को पर्दे पर निभाने जा रहे हैं। हाउसफुल 4 में उन्होंने ज़रूर 15वीं सदी का एक राजसी किरदार निभाया, मगर वो काल्पनिक और मज़ाकिया किरदार था। अक्षय, पहली बार डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी के साथ काम कर रहे हैं। डॉ. द्विवेदी चाणक्य जैसा मशहूर धारावाहिक बनाने के लिए जाने जाते हैं। इतिहास पर डॉ. द्विवेदी की अच्छा पकड़ है। वहीं, मिस वर्ल्ड रहीं मानुषी छिल्लर की यह डेब्यू फ़िल्म है।

पृथ्वीराज, महान हिंदू सम्राट पृथ्वीराज चौहान की कहानी है, जिन्होंने 12वीं शताब्दी में अजमेर से लेकर दिल्ली तक शासन किया था। पृथ्वीराज चौहान को भारतीय इतिहास में एक वीर और पराक्रमी राजा के रूप में देखा जाता है, जिन्होंने मुगल शासकों को नाकों चने चबवा दिये थे। पिता की मृत्यु के बाद महज़ 13 साल की उम्र में पृथ्वीराज को राज सिंहासन पर बैठा दिया गया था। युद्ध कौशल में पारंगत पृथ्वीराज ने 13 साल की उम्र में ही गुजरात के पराक्रमी राजा भीमदेव को पराजित किया था।

ना सिर्फ़ युद्ध कला बल्कि सांस्कृतिक रूप से भी पृथ्वीराज एक निपुण व्यक्ति थे। उन्हें संस्कृत प्राकृत, मागधी समेत छह भाषाओं का ज्ञान था, वहीं मीमांसा, गणित, पुराण समेत कई ग्रंथों की जानकारी थी। इतिहास के जानकारों के अनुसार, पृथ्वीराज की सेना में 3 लाख सैनिक और 300 हाथी थे। उनकी सेना में घुड़सवार सिपाहियों की बड़ी तादाद थी।

पृथ्वीराज के वीरता के किस्सों के अलावा उनकी प्रेम कहानी भी इतिहास में काफ़ी प्रसिद्ध है। राजकुमार संयोगिता से प्रेम होने के बाद उन्होंने स्वयंवर से उन्हें उठाकर गंधर्व विवाह किया था। पृथ्वीराज फ़िल्म में इन्हीं सब पहलुओं को कहानी में दिखाया जाएगा।